Loan Personal Finance

कैसे मिलता है होम लोन (Home Loan), इसकी हर बारीकियों को समझें

Home Loan: घर खरीदारों को हमेशा यही टेंशन रहती है कि होम लोन मिलेगा या नहीं मिलेगा। पहली बार घर खरीदने वाले के लिए तो सबसे बड़ा तनाव यही रहता है कि कैसे होम लोन लें, कहां से लें और क्या-क्या डॉक्यूमेंट जमा करना होगा। लेकिन आप इस पेचीदगी को बेहद ही आसान तरीके से समझ सकते हैं। चाहे आपको फ्लैट या प्लॉट या फिर कंस्ट्रक्शन और रेनोवेशन के लिए लोन चाहिए सारी मुश्किलों का हल आसानी से मिल जाएगा।

हम आपको सारी जानकारी मुहैया कराएंगे। पहले घर के खरीदार और दूसरी-तीसरी बार घर खरीदने वालों के लिए बैंकों के नियम अलग-अलग होते हैं। इसलिए इस पॉलिसी की पूरी जानकारी जुटा लें। इसके बाद आप जरूरी दस्तावेज खासकर आय का सर्टिफिकेट या सैलरी स्लिप, पहचान और जन्म का प्रमाण पत्र, पिछले दो-तीन सालों का इनकम टैक्स रिटर्न या फॉर्म-16 जैसे डॉक्यूमेंट के साथ आपको तैयार रहना होगा।

लोन प्रक्रिया शुरू करने से पहले जरूरी बातें

कोई भी लोन या होम लोन लेने से पहले इस बात को सुनिश्चित कर लें कि आपकी कमाई कितनी है। क्योंकि कमाई के हिसाब से ही आपको बैंक लोन देंगे। क्योंकि होम लोन या कोई भी लोन लेने पर उसे चुकाना भी पड़ता है। ऐसे में आपकी लोन चुकाने की क्षमता के आधार पर भी लोन दिए जाते हैं। आपकी मंथली इनकम, खर्च और वाइफ और परिवार के सदस्य जो आपके लोन में कॉ-आवेदक हो सकते हैं उनकी आमदनी और देनदारी की भी पूरी डिटेल्स बैंक लेते हैं, और फिर उस आधार पर आपको कितना लोन मिल सकता है इसे तय किया जाता है। होम लोन की योग्यता के लिए उम्र की ऊपरी सीमी भी काफी अहम है। उम्र ज्यादा होने यानी रिटायरमेंट के करीब पहुंचने पर बैंक आपको लोन देने से बच सकते हैं।

कितना होम लोन मिल सकता है?

फ्लैट की कीमत का 80% से 90% तक आपको होम लोन मिल सकता है, बाकी आपको बैंक को डाउन पेमेंट के तौर पर चुकाने होंगे। स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन जैसे खर्च को भी आप हाउसिंग लोन में शामिल कर सकते हैं। प्लॉट खरीदने, घर कंस्ट्रक्शन और रेनोवेशन के लिए आपको लोन थोड़ा कम लोन मिलेगा।

लोन के लिए जरूरी कागजात

  1. आइडेंटिटी और रेजिडेंस प्रूफ
  2. 6 महीने की सैलरी स्लिप
  3. 2-3 सालों का फॉर्म-16 या आयकर रिटर्न
  4. पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  5. निवेश से जुड़े कागजात

जानकारों की मानें तो लोन कम से कम लेना चाहिए, ताकि आप पर बोझ कम हो। इसके पीछे वजह यह भी है कि होम लोन पर लंबी अवधि में ब्याज का बोझ काफी ज्यादा हो जाता है। लोन लेने से पहले इन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *